BooksCaterer

Jivan, Kala Aur Krititva | Premchand [ जीवन, कला और क्र्तित्व ]

8186265147
Out of stock
Rs.150 Rs.135 ×

प्रेम चाँद की कहानियों में जन साधारण की भावनाओं, परिस्थितियों और उनकी समस्याओं का मार्मिक चित्रण किया गया है | वास्तव में प्रेमचंद की कहानियां भारत के सर्वाधिक विशाल और विस्तृत वर्ग की कथाएँ है, इसलिए इन्हें जन-सामान्य का लेखक कहा गया |

Packing Weight 1 kg
Selling Rights Worldwide
Author Hansraj Rahabar
Publisher Sakshi Paperback
Language Hindi
Page count 368
Book Format Paperback

Categories: मुंशी प्रेमचंद | Prem Chand [Author]

Tags: Hindi Books हिन्दी पुस्तकें munshi prem chand

Jivan, Kala Aur Krititva | Premchand [ जीवन, कला और क्र्तित्व ] reviews

Be the first to write a review of this product!